Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
दैनिक हिन्दुस्तान का फर्जी संस्करण और 200 करोड़ का सरकारी विज्ञापन फर्जीवाड़ा :

दैनिक हिन्दुस्तान का फर्जी संस्करण और 200 करोड़ का सरकारी विज्ञापन फर्जीवाड़ा :

सुप्रीम कोर्ट ने शोभना भरतिया और बिहार सरकार को बहस में अपना पक्ष रखने का ‘‘अंतिम मौका‘‘ दिया: इस बीच, बिहार सरकार ने अचानकदैनिक हिन्दुस्तान के कथित अवैध मुंगेर संस्करण सहित अन्य जिलाबार संस्करणों में सरकारी विज्ञापनों के प्रकाशन पर रोक लगाईश्रीकृष्ण प्रसाद। अधिवक्ता,मुंगेर,बिहार। की ओर से प्रकाशितनई दिल्ली।, 01 फरवरी,2018। अठारह जनवरी । 2018। को बहस की निर्धारित तिथि पर पीटिशनर शोभना भरतिया और बिहार सरकार के विद्वान अधिवक्ताओं की अनुपस्थिति को सुप्रीम कोर्ट ने काफी गंभीरता से लिया है और कोर्ट ने अपनी गहरी नाराजगी प्रकट की है । सुप्रीम कोर्ट ने 18 जनवरी , 2018 को पारित अपने आदेश में अपनी नाराजगी प्रकट करते हुए निम्नलिखित आदेश पारित किया है:-‘‘ न्याय का तकाजा है कि कोर्ट दोनों पार्टियों । पीटिशनर शोभना भरतिया और रेसपोन्डेन्ट नं0-01 ।बिहार सरकार। को अगली तारीख 14 मार्च , 2018 को अपना पक्ष रखने का ‘‘ अंतिम -मौका‘ प्रदान करता है । ‘‘सुप्रीम कोर्ट ने अपने लिखित आदेश में आगे लिखा है कि - ‘‘ आज बहस स्थगित की जाती है पीटिशनर के विद्वान अधिवक्ता की अनुपलब्धता की स्थिति में । रेस्पोन्डेन्ट के विद्वान अधिवक्ता न्यायालय से प्रार्थना करते हैं कि इस मुकदमे को जल्द से जल्द निबटाने की जरूरत है । ‘‘18 जनवरी , 2018 को सुप्रीम कोर्ट के कोर्ट नं0-02 में न्यायमूर्ति श्री जे0 चेलामेश्वर और न्यायमूर्ति श्री संजय किशन कौल की खण्ड-पीठ दैनिक हिन्दुस्तान अखबार की मलकिन शोभना भरतिया ।नई दिल्ली। के स्पेशल लीव पीटिशन ।क्रिमिनल। नं0 - 1603। 2013 , जो अब क्रिमिनल अपील नं0- 1216। 2017 है । पर सुनवाई कर रही थीं ।स्ुप्रीम कोर्ट में इस मुकदमे में रेसपोन्डेन्ट नं0-02 मन्टू शर्मा ।मुंगेर,बिहार। की ओर से बहस में हिस्सा ले रहे बिहार के अधिवक्ता श्रीकृष्ण प्रसाद ।मुंगेर, बिहार। ने बहस में पीटिशनर शोभना भरतिया के विद्वान अधिवक्ता के बहस में हिस्सा न लेने पर न्यायालय से पीटिशनर शोभना भरतिया पर ‘ बड़ा जुर्माना‘ लगाने की प्रार्थना कीं और न्यायालय को बताया कि वे लगभग पांच वर्षों से कोर्ट की कार्यवाही में नियमित भाग ले रहे हैं , परन्तु पीटिशनर शोभना भरतिया और बिहार सरकार के विद्वान अधिवक्ता नहीं। 


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy