Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
कुश्ती संघ ने 400 किमी दूर,नाबालिग 41 खिलाड़ियों को बगैर किसी कोच, मैनेजर के भेज दिया

रात 2 बजे 4.5 डिग्री में बस पर बैठ खिलाड़ियों ने किया सफर
उज्जैन.जिला कुश्ती संघ ने 400 किमी दूर स्टेट स्पर्धा के लिए 14 से 17 साल के नाबालिग 41 खिलाड़ियों को बगैर किसी कोच, मैनेजर के भेज दिया। इनमें आठ लड़कियां भी है। इन सभी को आयोजन स्थल तक पहुंचने के लिए तीन जगह बस-ट्रेन बदलना पड़ी। रात 2 बजे साढ़े चार डिग्री तापमान में बस की छत पर सफर करना पड़ा।
कुछ दिन पहले मध्यप्रदेश कुश्ती संघ द्वारा अच्युतानंद गुरु अखाड़ा में जूनियर एवं सब जूनियर बालक एवं बालिका वर्ग की जिला स्तरीय कुश्ती चैंपियनशिप हुई थी। इसमें चयनित हुए 41 खिलाड़ी रायसेन जिले के बरेली गांव में स्टेट चैंपियनशिप के लिए रवाना हुए। जिला कुश्ती संघ के पदाधिकारियों ने शुक्रवार सुबह 10 बजे खिलाड़ियों को टिकट दिलाकर ट्रेन से बैठाया। सभी खिलाड़ी 18 साल से कम उम्र के है। संघ ने इनके साथ किसी भी कोच या मैनेजर को नहीं भेजा। खिलाड़ी ट्रेन में बैठकर दोपहर 2 बजे भोपाल पहुंचे। भोपाल से ट्रेन बदलकर इन्हें इटारसी जाना था, लेकिन ट्रेन मिस हो गई। इसके कारण खिलाड़ियों को 3 घंटे तक इटारसी की ट्रेन का इंतजार करना पड़ा।
शाम 5 बजे इटारसी की ट्रेन मिली। खिलाड़ी शाम 7.30 बजे इटारसी पहुंचे। यहां से रात 11 बजे ट्रेन मिली, जिससे ये पिपरिया पहुंचे। यहां से रात 1.30 बजे बस मिली तो ये पूरी भरी हुई थी। आखिरी बस होने के कारण खिलाड़ियों को बस की छत पर बैठकर ढाई घंटे का सफर तय करना पड़ा। इस दौरान रायसेन जिले का तापमान न्यूनतम 4.5 डिग्री दर्ज था। इनमें हाल ही में स्कूल नेशनल में कांस्य पदक जीती खिलाड़ी सोनम खान, भावना सिंगनाथ और पूजा यादव सहित विद्याभारती का गोल्ड मेडलिस्ट अमन शर्मा, नेशनल खिलाड़ी राकेश प्रजापत, विनय चौधरी सहित राज्य स्तरीय खिलाड़ी शामिल है।
जिला कुश्ती संघ की जिम्मेदारी
जिला कुश्ती संघ को जिम्मेदारी सौंपी है। खिलाड़ियों के साथ कोच व मैनेजर भी नियुक्त होना चाहिए। खिलाड़ी यदि परेशान हुए तो ठीक नहीं, मैं दिखवाता हूं। 
- डॉ.मोेहन यादव, विधायक एवं अध्यक्ष, मप्र कुश्ती संघ
मैं बीमार हूं, कोच शनिवार को गए
मेरा स्वास्थ्य खराब होने की वजह से जा नहीं पाया, जिला सचिव ने पूरी व्यवस्था की है। कोच रमेशचंद्र पाराशर और राधेश्याम पहलवान शनिवार को निकले हैं। 
- विजय चौधरी, एल्डरमैन एवं सहसचिव मप्र कुश्ती संघ
बड़े खिलाड़ियों को समझाकर भेजा था
खिलाड़ियों को टिकट खरीदकर ट्रेन से बैठाया है। भोपाल पहुंचते ही इटारसी के लिए ट्रेन लगी हुई थी। बड़ेे खिलाड़ियों को समझा दिया था। भोपाल से ट्रेन मिस होने के कारण परेशानी हुई होगी। 
- सुरेंद्र यादव, सचिव, जिला कुश्ती संघ


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy