Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
कमजोर पाचनतंत्र के कारण लक्षण व उपचार

कमजोर पाचनतंत्र के कारण लक्षण व उपचार : Strong Digestive System Tips.

शरीर में पाचनतंत्र कई अंगों से मिलकर बना होता है जिनके द्वारा शरीर में पाचनक्रिया होती है। यदि शरीर में ये अंग कमजोर होते है तब शरीर का विकास नहीं हो पाता है।

पाचनतंत्र के कमजोर होने पर हम खाने के बाद गैस, सूजन, पेट की परेशानी, कभी कभी कब्ज या थकान जैसी पाचन समस्याओं से पीड़ित हो जाते हैं। आइये जाने पाचन शक्ति बढ़ाने के उपाय और देसी घरेलू नुस्खे, natural home remedies tips for good digestion in hindi.

पाचनतंत्र कमजोर या खराब होने के 12 प्रमुख कारण : Pachantantra Kamjori ke Karan

1. शारीरिक श्रम कम करना.
2. खाने – पीने में कमी करना.
3. बहुत कम मात्रा में पानी पीना.
4. तम्बाकू उत्पाद (शराब और सिगरेट ) का अधिक सेवन करना.
5. अधिक मात्रा में भोजन लेना.
6. अनियमित भोजन करना.
7. देर रात तक जगे रहना.
8. एक ही जगह घंटो तक बैठ कर काम करना
9. फास्ट फूड या जंक फूड खा लेना
10. दिनचर्या का सही न होना.
11. पूरी नींद नहीं ले पाना.
12. काम या किसी बात को लेकर तनाव का होना.

पाचनतंत्र खराब होने के लक्षण :pachantantra kamjori ke lakshan

कुछ प्रमुख लक्षण यहाँ बताये गये है.

*. एसिडिटी (Acidity)
*. पेट से जुड़ी समस्याये.
*. सीने में जलन का होना
*. इरिटेबल बाउल सिंड्रोम
*. डायरिया का हो जाना
*. बदहजमी का होना.
*. कब्ज की शिकायत होना.
*. अपच (Indigestion)

पाचन तंत्र को ठीक करने के उपाय : Pachan Tantra Majboot karne ke Upay

Paachantantra Thik Karne Ke Upay , strong digestive system

1. अपनी दिनचर्या सही रखे –मनुष्य के लिए एक अच्छी दिनचर्या का होना बहुत आवश्यक है. अगर आपकी दिनचर्या संतुलित नहीं है तो आपको दिनभर कई छोटी – छोटी समस्याओ का सामना करना पड़ेगा. पाचनतंत्र को आप बेहतर दिनचर्या से दूर कर सकते हो. सुबह से लेकर रात सोने तक अपनी दिनचर्या सही रखे. सही समय पर अपना भोजन ले. अगर आपका daily routine ठीक होगा तो आपका शरीर भी उसी अनुसार चलता रहेगा. जिससे पाचन तन्त्र भी दुरुस्त हो जाएगी.

2. रात को जल्दी सो जाए- कई लोग काम के चलते और कई अपनी बुरी दिनचर्या (Dincharya) के कारण देर रात जगे रहते है. वे जल्दी सोते नहीं और सुबह लेट में उठते है. देर रात तक जगे रहने से पाचन तन्त्र पर विपरीत प्रभाव पड़ता है | अगर देर रात तक जगे रहोगे तो आपका पाचन तंत्र का ख़राब होना तय है. इससे बचने का उपाय है की रात को देर से सोने की आदत को बदला जाए|

3. गहरी और अच्छी नींद ले –नींद का हमारे शरीर से गहरा नाता है. जिस तरह हमारे लिए भोजन करना जरुरी है ठीक उसी तरह हमारे लिए नींद भी जरुरी है. बिना अच्छी नींद के अच्छे स्वास्थ्य की कल्पना करना भी मुश्किल है | एक दिन में इसलिए 8 से 9 घंटे की अच्छी नींद जरुर ले |

4. अधिक मात्रा में पानी पीये – हमारे लिए पानी बहुमूल्य है. अधिकतर लोग बहुत कम पानी पीते है. हमें एक दिन में लगभग 2 लीटर पानी पीना चाहिए |अगर आपका पाचन तन्त्र ठीक नहीं है तो आप इसे अधिक पानी भी पी सकते है. यह हमारे शरीर में पानी की मात्रा को पूरा करता है जिससे भोजन को पचने में आसानी होती है. इसलिए पानी पीये और भरपूर पीये|

5. तनाव को करे दूर – तनाव आज लोगो का बहुत बड़ा दुश्मन बन गया है. तनाव आदमी को अन्दर ही अन्दर दीमक की तरह खोखला कर देता है. जिससे व्यक्ति कई रोगों से घिर जाता है. अधिक तनाव लेने से पाचन तन्त्र ख़राब हो जाता है. इसलिए तनाव को अपनी लाइफ से दूर करे |

6. फास्ट फ़ूड को कहे अलविदा – स्वाद हर कोई लेना चाहता है. इस स्वाद के चक्कर में हम लोग फास्ट फ़ूड खाने लगते है. किसी को यह कम पसंद होता है तो किसी को ज्यादा. जिसको यह ज्यादा पसंद होता है वह ख़राब पाचन तन्त्र का शिकार बन जाता है| इसका सेवन बहुत कम मात्रा में करें और इसकी जगह helthi food ले.

7. शारारिक कार्य जरुर करे –अधिकतर पाचन तन्त्र ख़राब उन्ही लोगो का होता है जो शारारिक काम नहीं करते है| ऐसे बहुत से लोग होते है जिनका काम शारारिक नहीं होता. ऐसे लोग अपनी दिनचर्या में कुछ शारारिक काम कर सकते है| व्यायाम को अपनी दिनचर्या में सामिल करें |सुबह उठकर टहलें या दौड़ लगा सकते है| इसके अलावा कोई स्पोर्ट्स या साइकिलिंग कर सकते है|

8. सही समय पर रोजाना भोजन करे – सही समय पर भोजन करना अच्छी सेहत की निशानी होती है. ब्रेकफास्ट से लेकर डिनर तक आपका खाना खाने का time निश्चित होना चाहिए. हमारा शरीर हमारे डेली रूटीन के हिसाब से खुद को ढाल लेता है. अगर हम कभी 1 घंटे पहले कभी एक घंटे बाद खाना खाये तो हमारा भोजन रोज अनियमित हो जाएगा. जो हमारे पाचन तन्त्र को गड़बड़ा देता है |

9. खाने का नियम – यह बहुत लोगो की समस्या है की जब उनको तेज भूख लगती है तब वे कुछ नहीं खाते और जब भूख न हो तब पेट में कुछ न कुछ ठुसते रहते है. जो गलत है | सही समय पर शरीर को संतुलित आहार दे व बिन जरुरी खाने की बुरी आदत से बचना चाहिये |

10. शराब और सिगरेट से दूर रहे- शराब और सिगरेट हमारे स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं | इनका लगातार सेवन करते रहने से हमारा पाचन तन्त्र ख़राब हो जाता है और कई बीमारियाँ भी घेर लेती है | इसके अलावा चाय और कॉफ़ी से भी दूरी बनाये रखे |

11. अधिक खाना खाने से बचे – आवश्यकता से अधिक भोजन लेना हमारे स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं होता. अधिक खाने से हमें अपच हो सकती है. जितनी भूख हो हमें उतना ही खाना चहिये. कई बार लोग स्वाद के चक्कर में अधिक खाना खा लेते है और बाद में उन्हें पछताना पड़ता है. आप ऐसा न करे. खाने से ज्यादा प्राथमिकता अपने शरीर को दे. अधिक खाना लेने से हमारे पाचन तन्त्र पर अधिक दबाव पड़ता है जो की उचित नहीं है. ऐसा करने से इसलिए बचे.

12. हमेशा बैठे – बैठे काम न करे- अगर आपका काम ऑफिस का है, आपको कंप्यूटर के आगे या कुर्सी पर बैठकर काम करना पड़ता है तो आप बीच – बीच में ब्रेक लेते रहे. अगर आपको लगातार काम करना होता है तो हर दो घंटे में कुछ मिनट निकाल कर थोड़ा टहल ले |

13. ऑयली खाने से परहेज करे – ज्यो – ज्यो हमारी उम्र बढती जाती है.. हमारे लिए ऑयली खाने को पचा पाना मुश्किल होने लग जाता है. अगर हम Oily खाना ज्यादा खा लेते है तो इससे हमें उल्टी, अपच और खट्टी डकारे हो सकती है. इनसे बचने के लिए जरुरी है कि इन चीजो को बहुत ही कम मात्रा में खायें. ऑयली खाना पचा पाना थोड़ा मुश्किल रहता है. इसलिए अपने पाचन तंत्र की मदद करे और तैलीय खाना कम ही खाएं.

14. वसायुक्त भोजन लेने से बचे – उन चीजो को लेने से बचे जिनमे बहुत ज्यादा Fat होता है. वसा युक्त पदार्थ हमारे पाचन क्रिया को Slow कर देता है. अगर पाचन तंत्र स्लो रहेगा तो भोजन पचने में भी समय लगेगा. जितना हो सके बेहतर पाचन तन्त्र के लिए वसायुक्त भोजन कम ही ले.

15. रोजाना व्यायाम करे –व्यायाम करना हमारी body के लिए बहुत लाभदायक होता है. रोजाना Exercise को अपनी दिनचर्या में शामिल करे. डेली एक्सरसाइज करने से हमें खाना बेहतर रूप से पचता है. इसके अलावा यह हमारे वजन का सही स्तर बनाये रखता है जो हमारे digestive health के लिए अच्छा है. इसलिए रोजाना एक्सरसाइज करे और एक अच्छी सेहत बनाये.

पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलु आयुर्वेदिक नुस्खे : Pachan Tantra kamjori ke Ayurved Upchar

1.इलायची का सेवन- इलायची का सेवन एक गर्भवती महिला के लिए बहुत लाभकारी होता है. यह गर्भवती स्त्री के पाचन सम्बन्धी परेशानियों को दूर करता है. आप इलायची को चाय के साथ के सकते है.

2. अदरक का सेवन करे –अदरक हमारे शरीर में भोजन पचाने वाले पाचक रस और एंजाइम बनाता रहता है. इसका रस पाचन शक्ति को खराब होने से रोकता है. आप खराब पाचन को सही और मजबूत करने के लिए अदरक का सेवन करे.

3. निम्बू ले – नींबू हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी होता है. इसका सेवन करते रहने से यह हमारे पेट की कई समस्याएँ दूर कर देता है. नींबू हमारी बदहजमी और पेट की गैस को दूर करता है. यह हमारे पाचन शक्ति के लिए भी लाभकारी होता है.

4. सलाद का सेवन करे- खाने में अगर सलाद हो तो खाने का मजा दोगुना बढ़ जाता है. सलाद अच्छे खाने के साथ – साथ हमारे हेल्थ के लिए भी अच्छा है. खाने को अगर अच्छी तरह पचाना है तो खाने के साथ सलाद भी ले. जिसमे आप नींबू, टमाटर और प्याज ले सकते है.

5. अमरुद खाएं – अमरुद एक बहुत ही उपयोगी फल है जो पौष्टिक होता है. अमरुद में विटामिन सी, फास्फोरस और पौटेशियम पाया जाता है जो स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है. अमरुद के सेवन करते रहने से मस्तिष्क, ह्रदय और पाचन शक्ति मजबूत बनती है.

6. सौंफ का प्रयोग करे –एसिडिटी को दूर करने के लिए, सीने की जलन कम करने के लिए और खाना अच्छी तरह पचाने के लिए आप सौफ ले सकते है. रोजाना एक एक चम्मच सौंफ लेने से पाचन क्रिया सही बनी रहती है.

7. एलोवेरा ले- पाचन क्रिया को मजबूत बनाने के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल करे. एलोवेरा हमारी पाचन सम्बन्धी रोगों को दूर करता है जिसमे सुजन और पेट का अल्सर शामिल है. पानी के साथ आप एलोवेरा जेल का इस्तेमाल कर सकते हो.

8. हल्दी का प्रयोग करे – हल्दी हमारे शरीर के अपच, अल्सर,पित्त निकालने और पाचन से सम्बन्धित अन्य समस्याओ को दूर करता है. पाचन सम्बन्धी समस्याएँ दूर करने के लिए एक ग्लास पानी के साथ हल्दी लेते रहे.

9. आंवले लेते रहे – आंवला हमारे शरीर में विटामिन सी की कमी को दूर करता है. आवले का लगातार सेवन करते रहने से यह हमारे पाचन तन्त्र को ख़राब होने से बचाता है. आंवले को पिस करके उसमे काली मिर्च, हींग और जीरा मिला कर भी आप ले सकते है.

10. पपीता का सेवन- कच्चा पपीता सेहत के लिए बहुत अच्छा है. आंत की कमजोरी के कारण शरीर में विटामिन्स का संचय नहीं होता है तो हम पपीते के सेवन से विटामिन सी प्राप्त कर सकते हैं. इसमें पपाइन होता है जो कि प्रोटीन को विभाजित करता है और खाने को पाचन योग्य बनाता है और पाचन क्रिया को प्रबल बनाता हैं.

इसके अलावा भी आप अपने भोजन में मूंग, अंकुरित चना, गेहूं और जौ की रोटियां शामिल करे और इन फलों को आम, अनार, अंजीर, अमरूद और संतरे को लेते रहे. ये फल आपके पेट को साफ़ रखेंगे जिससे आपका पाचन तन्त्र मजबूत बनेगा.

पाचन शक्ति को दुरुस्त करने के अन्य घरेलू नुस्खे (Top home Remedies To Improve Digestion) –

=> अपने भोजन को हमेशा चबा – चबा कर खाएं जिससे भोजन अच्छी तरह पचे.
=> छाछ का सेवन हमारे पाचन के लिए अच्छा होता है. भोजन में छाछ शामिल करे.
=> मीठे अनार का रस मुँह में लेने से आंत दोष ठीक होता है और पाचन शक्ति बढती है.
=> अजवाइन को पानी में उबाल कर पीने से भी पाचन तंत्र सही रहता है.
=> अमरूद के पत्तों में शक्कर मिलाकर सेवन करने से बदहजमी दूर हो जाती है.
=> हरड़ का मुरब्बा भी हमारे पाचन के लिए अच्छा होता है.
=> नींबू पर काला नमक लगाकर चाटते रहे इससे बदहजमी दूर हो जाएगी.
=> हींग का उपयोग करे.. इसका प्रयोग बदहजमी और गैस को दूर करने के लिए किया जाता है.
=> दिन में भोजन के बाद हिंगादी हरड चूर्ण व रात्रि में सोते समयत्रिफला चूर्ण का सेवन करें |यह पाचनतंत्र को मजबूत कर पेट की तकलीफों को दूर करता है


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy