Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
बीजेपी ने 40 करोड़ में बनवाई हार्दिक के खिलाफ सीडी

पास के संयोजक दिनेश बांभणिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, हार्दिक पटेल को बदनाम करने के लिए सीडी बनाई गई हैं

 

पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल इन दिनों सीडीकांड में घिरे हुए हैं. एक के बाद एक कई सीडी सामने आने के बाद बीजेपी ने उनपर जमकर निशाना साधा है. तो वहीं हार्दिक ने इसे बीजेपी की गंदी राजनीति बताया है. हालांकि गुजरात में पाटीदार नेता हार्दिक पक्ष में खड़ नजर आ रहे हैं. पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (PASS) ने हार्दिक पटेल की कथित सेक्स सीडी पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की है.

 

पास के संयोजक दिनेश बांभणिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, हार्दिक पटेल को बदनाम करने के लिए सीडी बनाई गई हैं. सीडी बनाने के पीछे बीजेपी का हाथ है, क्योंकि वो हार्दिक पटेल को बदनाम करना चाहती है. उन्होंने विपुल पटेल और बिमल पटेल पर सीडी बनाने का आरोप लगाया और कहा कि सीडी बनाने के लिए 40 करोड़ रुपए में डील हुई थी.

 

उन्होंने कहा, बीजेपी नारायण सांई की तरह हार्दिक की हालत बनाना चाहती है. गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष जीतु वाघाणी और पुलिस की मदद से सीडी बनाई गई हैं. ऐसी 52 सीडी बनाई गई हैं. जिनमें 22 हार्दिक की हैं और 30 पास संयोजकों की 30 मोर्फ सीडी हैं. सभी सीडी भारत के बहार मोर्फ (छेड़छाड़ कर के बनाई गई सीडी) करके बनाई गई हैं.

 

बांभणिया ने आगे कहा, सीडी बनाने के लिए सुरत के मनोज नाम के दलाल की मदद ली गई थी. हमारे पास इस बात के सभी सबूत हैं. हम सही समय आने पर शिकायत दर्ज करवाएंगे. विपुल को बीजेपी ने ही छुपा रखा है, बीजेपी उसे सामने लाए.


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy