Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल

      मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल

मध्य प्रदेश की राजनीतिक महत्वाकांक्षा और आपराधिक ग्राफ दिनों दिन बढ़ता ही जा रहा है और मुख्यमंत्री ईमानदारी और सुशासन के नारे लगा-लगा कर प्रदेश की जनता को पकाये जा रहे है। आम लोगों की आम जरूरत स्वास्थ्य विभाग का महत्व सभी जानते है भगवान का दूसरा रूप माने जाने वाले सरकारी डाक्टर दो-धारी तलवार के नीचे नौकरी कर रहे है । मरीज जब सरकारी अस्पताल में आता है तो उसे जॉच करने के साधन नहीं मिलते । डाक्टर दवा लिख दें तो अस्पतालों दवा नहीं मिलती। बाहर की लिख दे तो सभी डाक्टरों के ऊपर मरीज के परिजन हावी हो जाते है और विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के कोपभाजन का शिकार अलग बन जाता है। जिन अधिकारियों की जिम्मेदारी है व्यवस्था की वे दवा सप्लाई कंपनियों के कमीशन ऐजेन्ट बन गये है। हालात इतने बद से बदतर हो गये है कि खुद मंत्री,यहॉ तक कि स्वयं मुख्यमंत्री भी अपना छोटे से छोटा इलाज कराने दूसरे राज्यों की ओर रूख लेते है। म.प्र. के कानून के तमगाधारी स्वास्थ्य राज्यमंत्री भ्रष्टाचारियों के संरक्षक बन मदमस्ती में विटामिन रू का भरपूर आनन्द ले रहे है। दलाल रूपी सरकारी नौकर मंत्री जी की  सेवा में ईको स्पोर्ट जैसी गाडियां साधन के अय्यासी के साधन के साथ दौड़ाते रहते है। अस्पतालों और मेडीकल कालेजों के भ्रटाचारियों की फौज मंत्री के समन्वय तन्मयता से काम कर रही है। जिसका काम सिर्फ मंत्री जी की सेवा करना ,भ्रष्टाचारियों के पक्ष में मनमाफिक आदेशों पर हस्ताक्षर कराकर लाना और उनका सेवा सत्कार का सामान नियत स्थान पर पहुॅचाना है। राजधानी सहित पूरे प्रदेश में भष्टाचारियों जिम्मे ही है प्रबन्धन व्यवस्था। यही है भाजपा अर्थात भुखेरी जानवर पार्टी का जीरो टॉलरेन्श कर्मकांण्ड और सत्ताभोग का कालखण्ड।                                                                                              हिन्दुत्व विरोधी झूठा प्रचार ।                                             

                              आंकड़ो की बाजीगरी,भ्रष्टों की सरकार।।


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy