Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
दैनिक जागरण ने सांसद का काला चि_ा खोलने वाले अपने रिपोर्टर को बाहर निकाला

मध्य प्रदेश के सीधी से खबर है कि संसदीय क्षेत्र-11 से शासन के नियमों को ताक पर रखकर निर्वाचित हुईं सांसद की असलियत देश के नम्बर एक कहे जाने वाले समाचार पत्र दैनिक जागरण में उजागर कर दिया तो सांसद ने जागरण के मालिकान से मिलकर रिपोर्टर को पवेलियन का रास्ता दिखवा दिया है। रिपोर्टर का नाम है रामबिहारी पांडेय। रिपोर्टर ने सीधी सांसद के आदर्श गांव में कोई काम नहीं होने की असलियत उजागर किया।
साथ ही जिला मुख्यालय में बने उनके खुद के दो मंजिला बंगले में बिना मान्यता कालेज संचालित होने की खबर प्रकाशित कर दी। इसके बाद सांसद निधि से दी जाने वाली अनुदान राशि को अनुदान पाने वालों से वसूल करवाने की प्रमाणित खवर भी प्रकाशित की। इससे भड़की सांसद ने पहले रिपोर्टर को धमकाने के साथ खरीदने का प्रयास किया। जब बात नहीं बनी तो दैनिक जागरण के मालिकान से संपर्क साधा। मालिक भी भाजपाई, अखबार भी भाजपाई और सांसद भी भाजपाई। सांसद के प्रभाव में आकर दैनिक जागरण के मालिक ने रिपोर्टर को बाहर का रास्ता दिखा दिया। इस तरह सच्ची पत्रकारिता हार गई और धूर्त नेता जी गए। यही है आजकल के सत्ताधारी सिस्टम में भ्रष्टाचार और कंपनीनुमा मीडिया घरानों में गठजोड़ की सच्चाई और पत्रकारिता का अंदरुनी साक्षात प्रमाण।


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy