Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
शिवराज ने जनता की गाढ़ी कमाई विदेश यात्राओं पर उड़ाई : कांग्रेस

भोपाल ; मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 13 वर्षो के दौरान कई विदेश यात्राएं की हैं, जिन पर कांग्रेस ने सवाल उठाए हैं। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने शिवराज पर जनता की गाढ़ी कमाई विदेश दौरों पर उड़ाने का आरोप लगाते हुए इन यात्राओं पर श्वेतपत्र जारी करने की मांग की है।

नेता प्रतिपक्ष ने यहां एक बयान जारी कर कहा कि वर्ष 2005 से लेकर अब तक लगभग 15 विदेश यात्राएं मुख्यमंत्री ने की हैं। इन यात्राओं से मध्यप्रदेश को और यहां की जनता को क्या लाभ पहुंचा है, इसका ब्यौरा दें। साथ ही उनके साथ गए शासकीय और अशासकीय लोगों के नाम, उन पर हुए खर्च, जिन कंपनियों से बात हुई है, उनके नाम और किए गए अनुबंध का भी ब्यौरा सार्वजनिक करें।

सिंह ने एक सूची जारी कर बताया है कि चौहान ने 2010 में श्रीलंका की दो दिवसीय, जर्मनी, नीदरलैंड, इटली की नौ दिवसीय यात्रा की। इसी तरह 2011 में चीन की 10 दिवसीय, वर्ष 2012 में जापान, कोरिया, सिंगापुर की नौ दिवसीय यात्रा, वर्ष 2012 में ही अमेरिका की आठ दिवसीय यात्रा, वर्ष 2014 में दक्षिण अफ्रीका की 10 दिवसीय यात्रा के अलावा दुबई की भी यात्रा की।

इसके अलावा वर्ष 2015 में जापान, कोरिया की नौ दिवसीय, वर्ष 2016 में सिंगापुर की चार दिवसीय, चीन की पांच दिवसीय, अमेरिका की पांच दिवसीय यात्रा की। वहीं वर्ष 2017 में अभी अमेरिका की सात दिवसीय यात्रा पर गए हैं और रविवार की देर शाम को स्वदेश लौट रहे हैं।

नेता प्रतिपक्ष सिंह ने कहा कि उन्होंने चौहान से विदेश यात्रा पर जाने की बजाय प्रदेश के किसानों को उपज का सही मूल्य मिले इसकी पहल करने की बात कही थी, मगर वे नहीं माने। भावांतर योजना के ‘भंवर जाल’ में उलझाकर अगर मुख्यमंत्री अमेरिका यात्रा पर गए, तो वे यह भी बताएं कि ऐसी क्या उपलब्धि उनकी सात दिन की अमेरिका यात्रा की रही, जिससे यहां के किसानों को राहत मिलेगी।

 




Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy