Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
चुनावी वादे पूरे नहीं होते, जवाबदेह बनाना चाहिए: CJI खेहर

चुनावी वादे पूरे नहीं होते, जवाबदेह बनाना चाहिए: CJI खेहर

देश के प्रधान न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहर ने शनिवार को कहा कि चुनावी वादे आमतौर पर पूरे नहीं किए जाते हैं और घोषणा पत्र सिर्फ कागज का एक टुकड़ा बन कर रह जाता है। उन्होंने कहा कि इसके लिए राजनीतिक दलों को जवाबदेह बनाया जाना चाहिए। सीजेआई ने यहां 'चुनावी मुद्दों के संदर्भ में आर्थिक सुधार' विषय पर एक सेमिनार को संबोधित करते हुए यह टिप्पणी की। उन्होंने कहा, 'आजकल चुनाव घोषणा पत्र महज कागज के टुकड़े बन कर रह गए हैं, इसके लिए राजनीतिक दलों को जवाबदेह बनाया जाना चाहिए।'
सेमिनार में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भी हिस्सा लिया। सीजेआई खेहर ने कहा कि चुनावी वादे पूरे नहीं करने को न्यायोचित ठहराते हुए राजनीतिक दलों के सदस्य आमसहमति का अभाव जैसे बहाने बनाते हैं। प्रधान न्यायाधीश ने कहा कि नागरिकों की याददाश्त अल्पकालिक होने की वजह से ये चुनावी घोषणा पत्र कागज के टुकड़े बनकर रह जाते हैं लेकिन इसके लिए राजनीतिक दलों को जवाबदेह बनाया जाना चाहिए।
साल 2014 में हुए आम चुनावों के दौरान राजनीतिक दलों के घोषणा पत्रों के बारे में प्रधान न्यायाधीश ने कहा कि इनमें से किसी में भी चुनाव सुधारों और समाज के सीमांत वर्ग के लिए आर्थिक-सामाजिक न्याय सुनिश्चित करने के सांविधानिक लक्ष्य के बीच किसी प्रकार के संपर्क का संकेत ही नहीं था। उन्होंने कहा कि इस तरह से रेवड़ियां देने की घोषणाओं के खिलाफ दिशानिर्देश बनाने के लिए चुनाव आयोग को उच्चतम न्यायालय के निर्देशों के बाद आयोग आचार संहिता के उल्लंघन के लिए राजनीतिक दलों के खिलाफ कार्रवाई कर रहा है।


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy