Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
जालीदार टोपीधारी वाले भाजपायी मुख्यमंत्री के राज में, गाय के काटे कान, सरकार को खुला चेलेंज ,औकात हो तो कुछ बिगाड़ के दिखाओं !


 जालीदार टोपीधारी वाले भाजपायी मुख्यमंत्री के राज में  

                    गाय के काटे कान,   

  सरकार को खुला चेलेंज ,औकात हो तो कुछ बिगाड़ के दिखाओं ! 

भानपुरा (मंदसौर) जहॉ पूरा देश होली के रंग और गुलाल में रंगा हुआ है तो वहीं दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी पूूरे देश में राजनीतिक भॉग के नशे में चूर होकर मदमस्त है। सत्ताधरी राजनेता तो ऐसे मस्त हो गये है मानों जैसे बदहवास देशी ठर्रा शराब पी कर कोई बेगड़ा सड़क किनारे नाली में डबलडोज लेकर पड़ा हो। इसी का फायदा उठाकर एक बार फिर क्षेत्र के कुछ अज्ञात अपराधियों  ने गौ माता के दोनों कान काट कर  ये संदेश दे दिया है कि सरकार की औकात सिर्फ टुकडख़ोर श्वानो से ज्यादा कुछ नहीं है। सरकारी दल्ले कमीशन के लिए समाज हो या अवैध व्यापार सभी को संरक्षण देने के लिए अपराधियों तलवे चाटने तक को आतुर रहते है। स्थानीय खबरों और आमजन में हो रही चर्चानुसार गत मध्य रात्रि में चौराहे पर स्थित बजरंगबली मंदिर के पीछे बैठी गौ माता के अपराधियों ने दोनों कान काट दियेे, गौमाता बुरी तरह से घायल होकर तड़पती रही और अब मरणासन्न अवस्था में है। इस घटना से हिंदु समाज में सरकार की कानून व्यवस्था को लेकर क्षेत्रीय जनता में व्यापक जनआक्रोश है। ज्ञात हो  काफी समय से ऐसी ही क्षेत्र में किसी व्यावसायिक अथवा रातनीतिक साजिश के तहत हिंदू समाज की धार्मिक भवनाओं पर निरन्तर कुठाराघात किया जा रहा है,साक्ष्य मौजूद है पूर्व में भी रेवा नदी के समीप शिव नंदी की मूर्तियों को खंडित किया गया था,तो वहीं दूसरी ओर आदि गुरु शंकराचार्य मठ की धरोहर संस्कृतिक, संस्कृत पाठशाला में  तोड़-फोड़ की गई थी, किंतु पुलिस हो जिला प्रशासन आज तक अपराधियों का पता नहीं लगा पाया और न ही समाज को जबाव देने की स्थिति में है। यह घटना नगर की शांति में जहर घोलने का ही नहीं किसी बड़े जन आक्रोश को निमन्त्रण देने का कार्य कर रही है इस घटना को लेकर विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल ने सांकेतिक विरोध किया तथा पुलिस को ज्ञापन सौंपा विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल ने पुलिस से अतिशीघ्र घटना के आरोपियों को गिरफ्तार करने मांग की है। देखना है कि इन हिन्दू संगठनों के ज्ञापनों पर पुलिस अपराधियों को पकड़ती है अथवा जॉच दर जॉच का लोगों को आश्वासनी झुनझाुना पकड़ा कर  परम्परागत सरकारी आदेशी अपराधियों के संरक्षण की खातिर आम लोगों को हेलमेट,जुआ,सट्टा नशे के कारोबार में ही उलझाकर बसूली में ही तल्लीन रहती है। वैैसे भी सिंहस्थ में  किन्नर के शिष्य बन चुके अखिल विश्व प्रख्यात डंपरछाप जालीदार टोपी पहनने वाले मुख्यमंत्री से सनातन धर्म की रक्षा की अपेक्षा कम ही रखनी चाहिए। सिवाय जनता जनार्दन  के अपने समाज के संस्कार और धर्मबल के।


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy