Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
बेटों का राजनीतिक भविष्य संवारने में जुटे दिग्गज

सियासत में कामयाबी व नाकामी के लंबे दौर से गुजरने के बाद तमाम नेताओं में बेटे-बेटियों का सियासी करिअर को संवारने की चाहत परवान चढ़ने लगी है। 17 वीं विधानसभा में पहुंचाने की कोशिश में कई सूरमा अपनों का टिकट पक्का करा चुके हैं तो कई अभी जोड़-तोड़ में लगे हैं। युवा पीढ़ी भी घर-परिवार के सियासी रसूख के चलते चुनावी जंग में कूदने को उतारू है।
 अपनी जगह अब बेटों बेटी को लाने की तैयारी : भाजपा की वाराणसी कैंट से विधायक ज्योत्सना श्रीवास्तव अब खासी उम्रदराज़ हो गई हैं। वह बेटे के लिए टिकट चाहती हैं। रायबरेली से निर्दलीय विधायक अखिलेश प्रताप सिंह बीमारी की वजह से चाहते हैं कि उनकी सीट पर प्रतिनिधित्व अब उनकी बेटी अदिति सिंह करें। अदिति कांग्रेस में शामिल हो चुकी हैं।
केंद्रीय मंत्री कैबिनेट मंत्री कलराज मिश्र भी चाहते हैं कि उनके बेटे अमित का सियासी सफर इस चुनाव से शुरू हो। केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह के पुत्र पंकज सिंह संगठन में महामंत्री हैं और वर्ष 2002 के विधानसभा चुनाव में उन्हें वाराणसी की चिरईगांव से उम्मीदवार बनाया गया था। बाद में उन्होंने टिकट लौटा दिया।
  बेनी प्रसाद वर्मा पूर्व केंद्रीय मंत्री बेनी वर्मा बेटे राकेश वर्मा का राजनैतिक करिअर पटरी पर लाना चाहते हैं। मुलायम ने राकेश के लिए वह सीट चुनी जिस पर अरविंद सिंह गोप चुने गए थे। अखिलेश खेमे से अर¨वद व मुलायम खेमे से राकेश प्रत्याशी हैं।
बेनी प्रसाद वर्मा पूर्व केंद्रीय मंत्री बेनी वर्मा बेटे राकेश वर्मा का राजनैतिक करिअर पटरी पर लाना चाहते हैं। मुलायम ने राकेश के लिए वह सीट चुनी जिस पर अरविंद सिंह गोप चुने गए थे। 
   आजम खांयूपी सरकार में मंत्री आजम रामपुर से चुनाव लड़ रहे हैं, बेटे अब्दुल्ला आजम को पहली बार स्वार सीट से चुनाव मैदान में उतारने जा रहे हैं। अखिलेश व मुलायम दोनों की जारी सूची में उनका नाम है। आजम खां यूपी सरकार में मंत्री आजम रामपुर से चुनाव लड़ रहे हैं, बेटे अब्दुल्ला आजम को पहली बार स्वार सीट से चुनाव मैदान में उतारने जा रहे हैं। अखिलेश व मुलायम दोनों की जारी सूची में उनका नाम है।
रामपाल राजवंशीयूपी सरकार में मंत्री मंत्री रामपाल राजवंशी खुद चुनाव लड़ रहे हैं। बेटे मनोज राजवंशी को हरगांव सुरक्षित को भी टिकट दिला दिया है। वे मिश्रिख से चुनाव लड़ रहे हैं। रामपाल राजवंशीयूपी सरकार में मंत्री मंत्री रामपाल राजवंशी खुद चुनाव लड़ रहे हैं। बेटे मनोज राजवंशी को हरगांव सुरक्षित को भी टिकट दिला दिया है। वे मिश्रिख से चुनाव लड़ रहे हैं।
हाजी याकुब कुरैशी हाजी याकुब कुरैशी मंत्री रहे चुके हैं। वह बसपा से मेरठ दक्षिण से लड़ रहे हैं उनका बेटा मोहम्मद इमरान मेरठ की सरधना से हाथी की सवारी कर रहा है। हाजी याकुब कुरैशी हाजी याकुब कुरैशी मंत्री रहे चुके हैं। वह बसपा से मेरठ दक्षिण से लड़ रहे हैं उनका बेटा मोहम्मद इमरान मेरठ की सरधना से हाथी की सवारी कर रहा है।
रीता बहुगुणा जोशी कांग्रेस छोड़ भाजपा में आईं रीता जोशी चाहती हैं कि उनके बेटे मयंक को लखनऊ कैंट या अन्य किसी सीट से टिकट मिले तो उसके राजनीतिक करिअर की शुरुआत हो सके। वे लखनऊ कैंट से कांग्रेस के टिकट पर विधायक हैं। सरोजनीनगर सीट से या फिर इलाहाबाद से किसी एक सीट से चुनाव लडऩा चाहती हैं।
रीता बहुगुणा जोशी कांग्रेस छोड़ भाजपा में आईं रीता जोशी चाहती हैं कि उनके बेटे मयंक को लखनऊ कैंट या अन्य किसी सीट से टिकट मिले तो उसके राजनीतिक करिअर की शुरुआत हो सके। वे लखनऊ कैंट से कांग्रेस के टिकट पर विधायक हैं। सरोजनीनगर सीट से या फिर इलाहाबाद से किसी एक सीट से चुनाव लडऩा चाहती हैं।


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy