Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
यूपी में अमित शाह ने बीजेपी का चेहरा किया ऐलान

इलाहाबाद: बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को इलाहाबाद में सरदार पटेल महासम्मेलन किसान रैली को संबोधित किया। इस दौरान शाह के एक छोटे से इशारे ने बीजेपी के तमाम दिग्गज नेताओं की नींद उड़ा दी है। अमित शाह के इस इशारे से पार्टी के इन दिग्गज नेताओं को सीएम की कुर्सी अब दूर खिसकती नजर आने लगी है।

 
दरअसल इस रैली में अमित शाह ने विपक्षी पार्टियों पर जमकर हमला बोला और यूपी के लोगों से जल्द होने जा रहे चुनाव में अखिलेश यादव की सरकार को उखाड़ फेंकने की अपील की। सम्मेलन में अमित शाह ने यूपी के किसी नेता का नाम लेने के बजाय लोगों से मोदी का साथ देने की अपील की। 
 
उन्होंने साफ कहा कि यूपी के लोगों को विधानसभा चुनाव में भी पीएम मोदी के नाम पर भरोसा कर बीजेपी को वोट करना चाहिए। सियासी हलकों में अमित शाह के इस बयान का यह मायने निकाला गया कि बीजेपी यूपी विधानसभा चुनाव में किसी को भी सीएम उम्मीदवार घोषित नहीं करेगी और महाराष्ट्र, झारखंड व हरियाणा की तर्ज पर पीएम मोदी के नाम के सहारे ही मैदान में उतरेगी। 
 
इशारों में कही गई अमित शाह की इस बात से बीजेपी के दिग्गजों को बड़ा झटका लगा है। पार्टी के आधा दर्जन से ज़्यादा बड़े नेता इस उम्मीद में थे कि इलाहाबाद में अगले हफ्ते होने वाली बीजेपी राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में पार्टी किसी एक चेहरे को सीएम उम्मीदवार के तौर पर प्रोजेक्ट कर देगी। 
 
यूपी सीएम कैंडिडेट को लेकर जिन नामों की सबसे ज्यादा चर्चा थी उनमें स्मृति ईरानी, योगी आदित्यनाथ, राजनाथ सिंह, वरुण गांधी, महेश शर्मा, राम शंकर कठेरिया, कलराज मिश्र और कल्याण सिंह शामिल हैं। इन नामों के अलावा और भी कई बीजेपी नेता अपने नाम की लॉटरी लगने की उम्मीद में थे। इतना ही नहीं कुछ बीजेपी कार्यकत्र्ताओं ने वरुण गांधी को मुख्यमंत्री चेहरा बनाने को लेकर इलाहाबाद में कई बार प्रदर्शन भी कर चुके हैं। वहीं हिंदू वाहिनी के कार्यकत्र्ताओं ने योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री चेहरा न बनाने पर बीजेपी को वोट न देने की भी बात कह चुके हैं। उनकी मांग है कि केंद्र में मोदी और यूपी में योगी को चेहरा बनाया जाए। 

 


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy