Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
अरूण जेटली के खिलाफ,शिकायत दर्ज कराई

नई दिल्ली - पूर्व क्रिकेटर और बिहार से भाजपा सांसद कीर्ति आजाद ने केंद्रीय वित्त मंत्री और भाजपा के बड़े नेता अरूण जेटली के खिलाफ दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।

कीर्ति आजाद ने जेटली के साथ-साथ डीडीसीए पदाधिकारियों के खिलाफ भी दिल्ली के आईपी इस्टेट थाने में शिकायत दी है। हालांकि इस संबंध में कोई मुकदमा दर्ज होने की पुष्टि नहीं हुई है।

शिकायत में डीडीसीए के कई पदाधिकारियों के नाम लिखे गए हैं। इनमें डीडीसीए के अध्यक्ष अरूण जेटली समेत सचिव और दूसरे अधिकारी शामिल हैं।

कीर्ति आजाद की शिकायत में कहा गया है कि दिल्ली और जिला क्रिकेट संघ, फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में एक बार चलाता है, इसके लिए आबकारी विभाग की ओर से लाइसेंस मिला हुआ है।

तीन राष्ट्रीय पर्व गणतंत्र दिवस, स्वतंत्रता दिवस और महात्मा गांधी के जन्म दिन पर शराब परोसना सही नहीं है।

यह न सिर्फ दिल्ली एक्साइज एक्ट का उल्लंघन है बल्कि प्रिवेंशन ऑफ इन्सल्ट टू नेशनल ऑनर एक्ट (1971) का भी उल्लंघन है। लिहाजा सभी जिम्मेदार लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाए।

गौरतलब है कि इससे पहले भी बार की शिकायत हुई थी, जिस पर दिल्ली के एक्साइज कमिश्नर ने निरीक्षण किया था और कुछ गड़बड़ी पाई गई थी।

ये कोई पहला मामला नहीं जब कीर्ति आजाद ने डीडीसीए का मुद्दा उठाया हो। पहले भी उन्होंने डीडीसीए में हो रही गड़बड़ियों के मुद्दे पर अरुण जेटली को पत्र लिखे हैं लेकिन जेटली के खिलाफ एफआईआर की अर्जी पहली बार दी है।

फिलहाल दिल्ली पुलिस का इस मुद्दे पर रूख क्या होगा ये देखना दिलचस्प होगा।

इससे पहले सुषमा स्वराज और ललित मोदी के मुद्दे पर भी कीर्ति आजाद ने एक ट्वीट किया था ‘आस्तीन का सांप’। उस समय वह खुलकर सुषमा के समर्थन में नजर आए थे।

उन्होंने अपने ट्वीट ‘आस्तीन का सांप’ से साफ कर दिया था कि कहीं न कहीं सुषमा को पार्टी से ही कोई निशाना बनाने की कोशिश कर रहा था।


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy