Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
छत्तीसगढ़ टूरिज्म बोर्ड के रिसॉर्ट में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़

आश्रम में सेक्स स्कैंडल का भंडाफोड़, मचा हड़कंप
दिल्ली:छत्तीसगढ़ टूरिज्म बोर्ड के रिसॉर्ट में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ होने के एक दिन बाद एक आश्रम में सेक्स स्कैंडल का खुलासा होने से हड़कंप मच गया। जरूरतमंद बच्चों के लिए बनाए गए आश्रम में लड़कियों के शोषण का मामला पहले भी चर्चा में रहा है।मामला रायगढ़ दिले का है।जहां स्थित आश्रम में नाबालिग लड़कियों को फोन पर अंतरंग बातें करने और यौन संबंध बनाने के लिए मजबूर किया जा रहा था। मामले का खुलासा होने के बाद आश्रम की सुपरिंटेंडेंट को सस्पेंड कर दिया गया है।बता दें कि बीते वर्ष भी आश्रम काफी दिनों तक चर्चा में रहा क्योंकि यहां से 9 लड़कियां भाग गईं थीं।चंद्रशेखर बाल सदन नाम के इस आश्रम को राष्ट्रपति अवार्ड भी मिल चुका है।मामले ने तूल पकड़ा तो रायगढ़ के कलेक्टर मुकेश बंसल ने आश्रम की सुपरिंटेंडेंट प्रिया गुप्ता को सस्पेंड कर दिया।शिकायत के अनुसार, प्रिया ने नाबालिग लड़कियों को अनजान लोगों के फोन पर अंतरंग बातें करने के लिए मजबूर किया।यही नहीं उसने लड़कियों को उन लोगों के पास भी भेजा।आरोपी सुपरिंटेंडेंट ने लड़कियों को देह व्यापार के लिए मजबूर किया।फोन पर कुछ लोग उससे हॉस्टल आकर लड़कियों से मिलने की बात भी करते पाए गए।प्रशासन को दी गई शिकायत में 288 कॉल रिकॉर्डिंग दी गई हैं।इन सभी भी की जांच की जा रही है। आरोप है कि वह पैसे लेकर लड़कियों को लोगों के साथ भेजती थी।पुलिस के अनुसार, इस पूरे घटनाक्रम की जांच जारी है और इसकी पूरी सच्चाई सामने लाने के लिए लड़कियों से भी पूछताछ की जाएगी। बाल अधिकार आयोग के अध्यक्ष जेस्सी फिलिप ने कहा कि बीते पांच महीने से आक्षम का माहौल ठीक नहीं दिख रहा।यहां जरूर कुछ गलत हो रहा है।मामलों को लेकर बवाल बढ़ने पर चार सदस्यीय टीम गठित की गई है जो पूरे घटनाक्रम की जांच करेगी। अधिकारियों ने कहा कि जांच पूरी होने के बाद ही इस मामले में एफआईआर या किसी की गिरफ्तारी होगी।


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy