Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
धर्मांतरण रोकने वाला मजबूत कानून बनेः शिवसेना

शिवसेना ने गरीबी और शिक्षा के अभाव को धर्मांतरण के लिए औजार के तौर पर इस्तेमाल किए जाने का जिक्र करते हुए धर्मांतरण को रोकने के लिए एक मजबूत कानून की आज हिमायत की। शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में छपे एक संपादकीय में कहा गया है, ‘‘जो काम (धर्मांतरण) हिंदू संगठन खुले आम कर रहे हैं, उसे ईसाई मिशनरी और मुस्लिम विद्वान चुपचाप कर रहे हैं।’’ इसने कहा है, ‘‘यदि ऐसा नहीं है तो, लाखों आदिवासियों और गरीब तबके के लोगों का धर्म नहीं बदला होता।’’

शिवसेना ने कहा, ‘‘कौन सा कानून गरीबी और शिक्षा के अभाव को धर्मांतरण की वजह के तौर पर इस्तेमाल करने की इजाजत देता है? इसी कारण धर्मांतरण रोधी एक मजबूत कानून का स्वागत करना जरूरी है जो इसे होने से रोक सके।’’ पार्टी ने कहा, ‘‘आगरा में जब मुसलमानों का धर्मांतरण कराया गया तो आग लग गई, लेकिन जब उसी शहर में हिंदुओं को ईसाई बनाया गया, तो एक चिंगारी तक नहीं उठी। भविष्य में हिंदुओं का शमन करके राजनीति नहीं हो सकती।’’ इसने कहा है कि गरीब, बीमार और असहाय महिलाओं को जुगत से ईसाई बनाए जाने के ढेरों उदाहरण हैं।

संपादकीय में कहा गया है, ‘‘रोटी, कपड़ा और मकान हर किसी के लिए बुनियादी आवश्यकताएं हैं, उसी तरह से स्वास्थ्य और शिक्षा की जरूरत है। यह नेताओं का कर्तव्य है कि वे आम आदमी की जरूरतें पूरी करें।’’ शिवसेना ने कहा, ‘‘इन जरूरतों के पूरा नहीं होने पर लोगों को अपना धर्म बदलने के लिए प्रलोभन दिया जाता है। क्या तथाकथित धर्मनिरपेक्षतावादी ऐसे लोगों का समर्थन करेंगे?’’


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy