Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
कोल्ड ड्रिँक नहीं जहर।

आप सभी जानते होंगे कि कोल्ड ड्रिँक कार्बन डाई ऑक्साईड CO2 और पानी H2O के मिश्रण से बनती है । पर क्या आप जानते हो कि इन दोनों के मिलने से
क्या बनता है ?

H2O + CO2 = H2CO3
यह कार्बोनिक अम्ल ( CARBONIC ACID ) है जो कि एक हल्का पर तेजाब है जिसकी pH 5.5 तक होती है पर हमारा शरीर 6.5 से 8.5 pH ही ग्रहण कर सकता है । तेजाब का काम जलाना होता है  जब आप इस तेजा को पीते हैं तो आपको जलन महसूस होती है जिसे आप अपनी जीभ पर चिरचिरापन महसूस करते हैं और इसके हमारा शरीर पचा नहीं पाता तभी हमें तीखी डकारें आने लगती हैं जो हमारे नाक से निकलने लगती हैं ।यह बिल्कुल वैसा ही है जैसे आप किसी भी घातक तेजाब को पानी में मिला कर पी रहे हों । जब आप किसी बच्चे को कोल्ड ड्रिँक देते हो तो आप उसे हल्का जहर परोस रहे होते है क्योंकि यह तिल तिल कर मारने वाला जहर है जिससे हमारा शरीर धीरे धीरे कमजोर होता चला जाता है बिल्कुल एक दीमक लगी लकड़ी की तरह । तो इस बार से  कोल्ड ड्रिँक को कहें अलविदा । और आप फलों के जूस और शेक पर जोर दें क्योंकि इनसे जलन नहीं ताजगी मिलती है 


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy