Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
उद्यानिकी के क्षेत्र में अग्रणी राज्य बने मध्यप्रदेश

उद्यानिकी के क्षेत्र में अग्रणी राज्य बने मध्यप्रदेश

भोपाल [प्रलय श्रीवास्तव ] उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण मंत्री सुश्री कुसुम महदेले ने उद्यानिकी से जुड़े अधिकारियों का आव्हान किया कि वे मध्यप्रदेश को उद्यानिकी के क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनवाने में सहयोग करें। सुश्री महदेले आज उद्यानिकी एवं प्रक्षेत्र वानिकी विभाग द्वारा 'उद्यानिकी में कृषकों का उन्नत प्रशिक्षण' विषय पर आयोजित कार्याशाला को सम्बोधित कर रही थी। कार्यशाला में प्रमुख सचिव उद्यानिकी श्रीमती कंचन जैन और आयुकत उद्यानिकी श्री अनुराग श्रीवास्तव भी मौजूद थे।
सुश्री कुसुम महदेले ने कहा कि उद्यानिकी के क्षेत्र में अपार संभावनाएँ हैं। किसानों को यदि उन्नत तकनीक का प्रशिक्षण दिया जाये, तो वे उद्यानिकी न सिर्फ अपना सकते हैं बल्कि उससे लाभ भी अर्जित कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश सरकार उद्यानिकी को निरंतर बढ़ावा दे रही है। सुश्री महदेले ने कहा कि प्रदेश में उद्यानिकी को प्रभावित करने वाले घटकों का निरंतर विकास आवश्यक है। उद्यानिकी को ऐसा स्वरूप मिले जिससे राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उपलब्ध उन्नत तकनीक और अनुसंधान की जानकारी किसानों को लगातार मिलती रहे। इसके लिये विभाग को सक्रियता से कार्य करने की आवश्यकता है।
सुश्री महदेले ने कहा कि किसानों को ऐसा उन्नत एवं तकनीकी प्रशिक्षण मिले जो वर्तमान समय की मांग के अनरूप हो। उद्यानिकी के विकास के लिये न सिर्फ किसान बल्कि दक्ष एवं प्रशिक्षित अमला भी उपलब्ध जिससे प्रदेश उद्यानिकी के क्षेत्र में अग्रणी राज्य बन सके। उन्होंने अधिकारियों से विलुप्त हो रही प्रजातियों को नया जीवन देने को कहा। उद्यानिकी के क्षेत्र में निरंतर शोध एवं विकास हों ताकि प्रदेश की तस्वीर बदल सके। उद्यानिकी की योजनाएँ किसी एक क्षेत्र में संचालित न होकर सभी क्षेत्रों में


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy