Bookmark and Share 1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
गैंगरेप के बाद दिल्ली में 'पेपर स्प्रे' की बिक्री बढ़ी

गैंगरेप के बाद दिल्ली में 'पेपर स्प्रे' की बिक्री बढ़ी


नई दिल्ली। दिल्ली में पिछले दिनों एक युवती के साथ बस में गैंगरेप की घटना के बाद बाजार में च्पेपर स्प्रेज् की बिक्री बढ़ गई है। दुकानदारों ने कहा कि १६ दिसंबर को हुई गैंगरेप की वारदात के बाद च्पेपर स्प्रेज् की बिक्री काफी बढ़ गई है। च्पेपर स्प्रेज् के एक डीलर मनीष मित्रा ने कहा कि आम तौर पर हर महीने १० से २० कैन बिकते हैं। लेकिन १६ दिसंबर की घटना के बाद मैं हर रोज लगभग ५० कैन बेच रहा हूं। उन्होंने कहा कि राजधानी दिल्ली के कार्यालयों, खासकर बीपीओ से थोक ऑर्डर आ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि एक कैन का आकार अलग-अलग होता है और कीमत १५० रुपये से ५०० रुपये के बीच होती है। इसमें आमतौर पर ३५ ग्राम काली मिर्च होती है और यह तीन साल में एक्स्पायर होता है। स्प्रे में काली मिर्च के अलावा दूसरे और रसायन मिले होते हैं, जिसके छिड़काव से आंख और त्वचा में जलन होती है। उत्पाद के विज्ञापनों में बताया जा रहा है कि जिस पर इसका छिड़काव किया जाएगा, वह तात्कालिक रूप से देख पाने में अक्षम हो जाएगा और सांस लेने के सिवा और कुछ नहीं कर पाएगा।

स्प्रे का उपयोग कर महिलाएं हमलावरों से अपनी रक्षा कर सकती है और बाद में सहायता के लिए दूसरों को संपर्क कर सकती है। कंपनियां भी अपनी महिला कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए इसे खरीद रही हैं। नोएडा में एक बीपीओ कंपनी के एक वरिष्ठ प्रबंधक ने कहा कि हमने कर्मचारियों की सुरक्षा के मुद्दे को गंभीरता से लिया है। हमने अपनी कंपनी में काम करने वाली महिलाओं के लिए पेपर स्प्रे का ऑर्डर दिया है।

पुलिस ने कहा कि महिलाओं द्वारा इसके उपयोग से उन्हें आपत्ति नहीं है। पुलिस उपायुक्त (उत्तर) सिंधु पिल्लई ने कहा कि चाकू, मिर्च के बुरादे या स्प्रे रखकर महिला हमलावर से अपनी रक्षा कर सकती है। आत्म रक्षा में कोई भी महिला हमलावर पर हमला कर सकती है। लेकिन बिना कारण इसका इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए और इसका दुरुपयोग नहीं किया जाना चाहिए। आम आदमी यदि आत्म रक्षा के उपाय अपनाएं तो इसमें आपत्ति नहीं है।


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy