Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
भोपाल में महिला उत्पीडऩ को लेकर कोई भी संजीदा नजर नही आ रहा है

भोपाल ! एक तरफ देश की राजधानी दिल्ली में लोग महिला उत्पीडऩ को लेकर जनआक्रोश उफान पर है वहीं मध्य प्रदेश में प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के लाख प्रयासों के बावजूद कोई भी संजीदा नजर नही आ रहा है । 09 दिसंबर 2012 को भोपाल में एक रेल्वे सुरक्षा बल के सहायक उप निरीक्षक के विरूद्व यौन पीडि़त महिला की तीन वर्षों में पुलिस थाने में शिकायत दर्ज की गयी,वह भी पुलिस थाने आला अधिकारी एवं मुख्य मंत्री के दरवार में तीन साल दर-दर भटकने के बाद । पुलिस को बताये फरियादी बयान के अनुसार आरोपी तीन वर्षाे तक सरकारी पिस्टल की धमकी के दम पर महिला का यौन शोषण करता रहा । अपराध दर्ज होने के बाद आरोपी महावीर सिंह पुत्र परमोली सिंह मूल निवासी ग्राम ,परसवारा थाना नदबई जिला भरतपुर राजस्थान अब जेल चला गया है। अब यहॉ ,रेल्वे सुरक्षा बल के लोग ,राजस्थान से भोपाल आकर उसके उसके सगे संबन्धी, अरोपी का बाप फरियादी पक्ष को प्रकरण वापस लेने के लिए तरह-तरह के हथकण्डे अपना रहे है। पुलिस भी दुविधा में है। यहॉ तक कि मीडिया के बड़े-बड़े धुरन्दरों की भी आवाज बन्द कर रखी है। क्योंकि यहॉ से आपात कालीन समय में मीडिया कर्मियों और उनके आकाओं को रेल यात्रा का सुख जो मिल जाता है। यही नहीं आरोपी इतना प्रभावशाली है कि इसके पूरे सेवा काल में सैकड़ों गंभीर आरेाप लगे ,दर्जनों बार मामले न्यायालय तक भी गये,परन्तु फरियादियों को भय के कारण शिकायतें वापस लेना पड़ी है। यह ज्वलन्त प्रमाण एक देश में दोहरी मानसिकता और प्रशासनिक व्यवस्था का । क्या उम्मीद की जा सकती है इस व्यवस्था और अपराध सके ?


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy