Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
फरार आरोपी,भाजपा का जिलाध्यक्ष प्रदेश कार्यसमिति की बैठक ,पुलिस प्रशासन मूक !

फरार आरोपी,भाजपा का जिलाध्यक्ष  प्रदेश कार्यसमिति की बैठक ,पुलिस प्रशासन मूक


खंडवा। बीजेपी प्रदेशकार्यसमिति की बैठक में एक ओर कार्यकर्ताओं को नसीहत दी गई कि वे ऐसे कामों से बचे जो पार्टी की साख खराब करते हो.. लेकिन इसी कार्यसमिति की बैठक में शाजापुर के भजपा जिलाध्यक्ष अरुण धीमावत भी बैठे दिखाई दिए.. अरुण धीमावत के खिलाफ न्यायालय  ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया हुआ है.. और दस धाराओं में उनके खिलाफ अपराध दर्ज है।

दरअसल अरुण धीमावत ने पांच अन्य लोगों के साथ एक जमीन खरीदी थी और कागजों में हेरा फेरी कर इस जमीन को हाईवे पर बता दिया गया । जबकि ये एक पहाडी पर बनी हुई थी इस मामले की शिकायत ब्रह्मानंद चौधरी ने पुलिस में की थी लेकिन सत्ताधारी दल का नेता होने के कारण पुलिस ने जब कोई कार्रवाई नही की तो चौधरी ने न्यायालय में एक परिवाद दायर किया था न्यायालय ने कुछ ही दिन पहले ही अरुण धीमावत के खिलाफ दस धाराओं में प्रकरण दर्ज करने के आदेश पुलिस को दिए थे.। और 27 सितंबर को इस मामले के सभी आरोपियों को कोर्ट के सामने पेश करने के आदेश है ।. लेकिन धीमावत बड़ी शान से भगवा कलर में कमलमयी होकर खुलेआम घूम रहे है और कानून को ठेंगा दिखा रहे है साथ ही वो प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में भी शामिल हुए जहॉ राष्ट्रीय स्तर के भाजपा के नेता मौजूद है।

शाजापुर एबी रोड लालघाटी स्थित बेशकीमती जमीन मामले में हेराफेरी करने वाले भाजपा जिलाध्यक्ष सरकारी रिेकार्ड एवं पुलिस की नजर में फरार है,पर वह खंडवा में चल रही प्रदेश बीजेपी की कार्यकारणी क ी बैठक में उपस्थित रहता है । जिला न्यायालय ने जिलाध्यक्ष अरुण भीमावद व अन्य 7 लोगों के विरुद्ध धोखाधड़ी सहित अन्य 10 धाराओं में प्रकरण दर्ज करने के आदेश कोतवाली पुलिस दिए थे ।

लालघाटी स्थित बेशकीमती जमीन की खरीदी और उसके कागजों में हेराफेरी करने का यह मामला पिछले एक साल से म.प्र. में सुर्खियों में बना हुआ है , भाजपा जिलाध्यक्ष अरुण भीमावद सहित पत्रकारों व कांग्रेसियों के मामले से जुड़े होने से यह मामला काफी चर्चा में रहा है। कोर्ट ने पक्षकार ब्रह्मानंद चौधरी व अन्य के वकील करणसिंह गुर्जर के पक्ष को सुनते हुए जिलाध्यक्ष भीमावद, पत्रकार मनोज पुरोहित, दीपक चौहान, कांग्रेस नेता माणकचंद तिलगोता, अंशुल जैन, दीपक भीमावद सहित 8 के विरुद्ध धारा 420, 463, 464, 465, 467, 468, 471, 475, 120बी, 149 भा.द.वि. के तहत प्रकरण दर्ज करने का आदेश कोतवाली पुलिस को दिया थे ।

इस मामले पर पूछे जाने पर बीजेपी के सांसद और महामंत्री राकेश सिंह का कहना है की ऐसा कोई व्यक्ति प्रदेश कार्य समिति की बैठक में शामिल नहीं हुआ है और अगर ऐसा कुछ हुआ तो पार्टी के वरिष्ठ जन मामले को देखेगे ।


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy