Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
मंत्री बोले घोषणा पत्र भाजपा का था, सरकार का नहीं ,नकारा भाजपा का घोषणा पत्र, विपक्ष का वाकआउट






कांग्रेस विधायक ने पूछा था किसानों के ५० हजार के कर्ज कब माफ करोगे


भोपाल। शिवराज सरकार के चर्चित मंत्रियों में से एक गौरीशंकर बिसेन ने बुधवार को विधानसभा में भाजपा के घोषणा पत्र को ही नकार दिया। किसानों के ५० हजार तक के ऋण माफी के भाजपा घोषणा पत्र के वादे को लेकर सदन में खूब हंगामा हुआ। नाराज मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने सदन से वाकआउट कर दिया। बाद में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल ने भाजपा पर किसानों से वादाखिलाफी करने का आरोप लगाया।

प्रश्नकाल में कांग्रेस विधायक आरिफ अकील ने सवाल किया था कि पिछले वित्तीय वर्ष में क्या किसान जिला सहकारी केंद्रीय बैंक और एवं कृषि ग्रामीण के चार सौ करोड़ के और सिंचाई विभाग के २३१ करोड़ के कर्जदार हैं? इस सवाल के जवाब में लोक स्वास्थ्य एवं यांत्रिकी मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने जवाब दिया कि जानकारी एकत्र की जा रही है। विधायक अकील ने पूरक प्रश्न किया कि भाजपा ने वर्ष २००८ के विधानसभा चुनाव के दौरान किसानों के ५० हजार तक के ऋण माफ करने का वादा अपने घोषणा पत्र में किया था? इस पर मंत्री बिसेन ने जवाब दिया कि घोषणा पत्र भाजपा का था, सरकार का नहीं।

इस सवाल को सुनते ही कांग्रेसी सदस्य भड़क गए। डा. कल्पना पारुलेकर जोर-जोर से बोलने लगीं। इस पर नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह बोलने के लिए खड़े हुए। उन्होंने कहा कि यह तो मंत्री गैर जिम्मेदार बात कर रहे हैं। इस मुद्दे पर भाजपा ने वोट मांगकर सरकार बनाई और इस तरह का जवाब दे रहे हैं। उनके जवाब में उद्योग मंत्री कैलाश विजयवर्गीय खड़े हो गए। उन्होंने कहा कि यह वादा पांच साल के लिए किया गया था। अभी पांच साल पूरे नहीं हुए हैं। हम मुख्यमंत्री के ध्यान में लाकर इस पर चर्चा करेंगे। उनकी इस टिप्पणी पर कांग्रेस सदस्य और गुस्सा हो गए। दोनों तरफ से विधायक जोर-जोर से बोलने लगे। इस बीच कांग्रेस ने सदन से बहिर्गमन कर दिया।

बाद में पत्रकारों से चर्चा में कांग्रेस नेता सिंह ने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार किसानों से वादाखिलाफी कर रही है। किसानों के कर्ज माफ नहीं किए गए हैं। उन्हें बिजली और खाद-बीज भी सरकार उपलब्ध नहीं करा पाई है।


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy