Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
आडवाणी हैं २जी घोटाले के सूत्रधार : बूटा सिंह



जालंधर : पूर्व गृह मंत्री बूटा सिंह ने भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी को २जी स्पेक्ट्रम घोटाले का च्पितामहज् करार देते हुए उनसे भी इस केस में पूछताछ किए जाने की मांग की है और समाजसेवी अन्ना हजारे को राजनीति से दूर रहने की सलाह दी है.बूटा सिंह ने कहा कि २जी स्पेक्ट्रम के लिए अकेले केंद्र की संप्रग सरकार दोषी नहीं है. इसकी तह तक जाना जरूरी है. यह घोटाला तब से हो रहा है जब लालकृष्ण आडवाणी सूचना प्रसारण मंत्री थे. वही इस घोटाले के सूत्रधार हैं. बूटा ने जोर देकर कहा कि इस मामले में आडवाणी से भी पूछताछ होनी चाहिए ताकि सही जानकारी सामने आ सके. इसके लिए संप्रग सरकार और कांग्रेस पर सारा दोष मढ़ना उचित नहीं है.हिसार लोकसभा उपचुनाव में कांग्रेस को वोट न देने की अन्ना हजारे की अपील के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि अन्ना हजारे को इस राजनीति से बचना चाहिए. इससे उनकी छवि खराब होगी. उन्होंने कहा कि अन्ना ने भ्रष्टाचार के खिलाफ संघर्ष का मुद्दा उठाया था. इसमें कोई संदेह नहीं है कि यह देशहित में है लेकिन उन्हें राजनीति से बचने की जरूरत है.कांग्रेस पार्टी पर भ्रष्टाचार के आरोपों और अन्ना फैक्टर का पंजाब विधानसभा चुनाव पर क्या प्रभाव पड़ सकता है इस बारे में पूछे जाने पर बूटा सिंह ने पलटकर सवाल किया, च्अगर कांग्रेस पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं तो भाजपा और शिरोमणि अकाली दल को क्या किसी ने क्लीन चिट दे दी है या सर्टिफिकेट दे दिया गया है कि ये पार्टियां भ्रष्ट नहीं हैं.उन्होंने पंजाब में दलित मुख्यमंत्री की वकालत करते हुए बूटा ने कहा कि पंजाब में दलितों की संख्या ३७ फीसदी से भी अधिक है. इसलिए यहां किसी दलित को मुख्यमंत्री बनाया जाना चाहिए. (एजेंसी)


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy