Bookmark and Share डिजिटल भुगतान से वैश्यावृत्ति के व्यापार में कमी के आंकड़ों से बौखलाये ,मोदी के दूत रविशंकर प्रसाद                मंत्री है या भ्रष्टाचारियों के दलाल                 मोदी के राज में पत्रकारों की आवाज की जा रही बंद, फिर भी चाटुकार बजा रहे बीन                एस्सार समूह ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए                1500 करोड़ का घोटाला, राजभवन ने नहीं की कार्यवाही                फर्जी डाक्टरों का सरगना डॉ.अभिमन्यु सिंह                मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं भ्रष्टाचारियों के सरगना कहिए !                पद़माकर त्रिपाठी को डॉ. नही सफेद एप्रिन का गिद्ध कहिए !                    
नीमच जेल से पांच कैदी फरार जेलर पर भगाने का आरोप!

आज नववर्ष 2010 की प्रात: नीमच से मिली जानकारी के अनुसार प्रात: ५:३० बजे कैदीयों की बैरक की सरिया काटकर फरार हो गये। जो कैदी बंद थे वह राजस्थान के मादक पदार्थों के तस्करी कर थे जिन्हें न्यायालय ने गंभीर आरोपों के चलते न्याय अभिरक्षा में नीमच उज्जैन में रखा था। दूरवास पर तैनात प्रहरी द्वारा मिली जानकारी के अनुसार इस जेल पर श्री एस.बी.शरण जेलर पदस्थ है दो दिन पहले वह अवकाश पर गये थे और चार जावद जेल प्रभारी श्री इंदर सिंह नागर को मौखिक रूप से दे गये थे। जबकि वास्तव में काम करने का जिम्मा जेल पर पदस्थ अपने खास सिपह सालारों को दे गये थे। वहीं क्षेत्रीय नागरिकों में एवं जिला प्रशासन में आम चर्चा है कि यह काम जेलर ने एक भारी रकम लेकर प्रायोजित कराया हैं। लोगों का यहां तक कहना है कि यह जेलर जहां-जहां पदस्थ रहे उन-उन जेलों पर कैदी इसी तरह फरार हुए है जिसमें चाहे पिपरिया जेल हो, सिहेारा जेल हो अथवा गुना जेल सभी की एक जैसी घटना है कि जेलर सहाब अवकाश पर जाते है और दो दिन के भीतर कुछ खास कैदी फरार हो जाते है। इनकी कार्यप्रणाली का जेल महानिरीक्षक को भी अच्छी तरह से ज्ञात है। वर्तमान जेल महानिरीक्षक किसी भी सम्बन्धित अधिकारी की गम्भीर शिकायत आने के बावजूद भी कोई भी कार्यवाही करने में दिलचस्पी नही रखते जिसमें चाहे किसी भी अधिकारी के ऊपर भ्रष्टाचारी का आरोप हो, चाहे कदारचरण का हो, चाहे जेल के महिला कर्मचारियों का दैहिक शोषण का मामला हो। हर जगह इनकी निष्क्रियता भी यह दर्शाती है कि अपराध की सांठ-गांठ निचले स्तर पर ही नहीं मुख्यालय में भी मौजूद है। जिसका परिणाम दिन-पर-दिन देखने का मिल रहा हैं।


Email (With coma separated ) :
You can Advertisment here
संपर्क करें      मेम्बेर्स      आपके सुझाव      हमारे बारे मे     अन्य प्रकाशन
Copyright © 2009-14 Swarajya News, Bhopal. Service and Private Policy